10वीं, 12वीं में फेल पहले प्रयास में पास की UPSC परीक्षा

अंजू शर्मा जब स्कूल में थीं तो उस वक्त वे दसवीं कक्षा के प्री बोर्ड एग्जाम में केमिस्ट्री के पेपर में फेल हो गई थीं। इसके बाद उन्होंने खुद को संभाला और मेहतन की। इसके बाद वे जब 12वीं कक्षा में पहुंची तो यहां भी 12वीं कक्षा के अर्थशास्त्र के पेपर में फेल हो गई थीं।

वे अपनी कमजोरियों पर काम करके अपनी पढ़ाई को इतना मजबूत कर चुकी थीं कि उन्होंने पहले प्रयास में ही इस एग्जाम में सफलता हासिल कर ली थी अंजू ने जब यह एग्जाम क्रैक किया था, 

उस वक्त वे केवल 22 साल की थी। इसके बाद, उन्होंने साल 1991 में राजकोट में असिस्टेंट कलेक्टर के पद से अपने करियर की शुरुआत की थी।