नौकरी के साथ UPSC Exam कि तैयारी कैसे करे ?

यूपीएससी सिविल सेवा में मूल रूप से दो प्रकार के उम्मीदवार होते हैं। एक वो जो पूर्णकालिक अध्ययन प्रणाली के तहत अपना पूरा समय समर्पित करते हैं; और दूसरे वो जो पूर्णकालिक नौकरी करने के साथ-साथ यूपीएससी परीक्षा की लिए तैयारी करते हैं। इस विशाल यूपीएससी सिविल सेवा पाठ्यक्रम को कवर करने और इन परीक्षाओं में सफलता पाने के कम प्रतिशत को ध्यान में रखते हुए, पूर्णकालिक कार्य करते समय आईएएस परीक्षा में सफलता पाना अत्यंत कठिन कार्य है।

यदि आप भी इस चुनौती से जूझ रहे हैं तो आपको यह जानकर खुशी होगी कि आप अकेले नहीं हैं। कई कामकाजी पेशेवर आईएएस परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं और उनमें से कुछ तो दुनिया से सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक इस परीक्षा में अपनी कड़ी मेहनत और दृढ़ संकल्प से सफल भी हुए हैं। लेकिन जैसा कि वे बताते हैं, बिना किसी योजना के की गई कड़ी मेहनत बिना स्टीयरिंग व्हील की फेरारी के जैसी है। इसलिए यदि आप अपनी नौकरी के साथ आईएएस की परीक्षा में सफल होने की योजना बना रहे हैं तो आपकी योजना कड़ी मेहनत की भांति ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी। आपकी इस कठिन मकसद को प्राप्त करने में मदद करने के लिए हमने फुल– टाइम जॉब के साथ आईएएस की परीक्षा में सफल होने के लिए कुछ महत्वपूर्ण टिप्स और ट्रिक्स की सूची बनाई है।

अपने समय का प्रभावी ढंग से उपयोग करें-

जहां तक यूपीएससी की परीक्षा तैयारी का संबंध है, तो प्राय: यही माना जाता है कि आपके पास केवल सोने के लिये ही समय होता है। लेकिन अगर जब आप एक पेशेवर या नौकरी करने वाले उम्मीदवार हैं तो यह दोगुना कठिन हो जाता है। इसलिये अपने समय को प्रभावी ढंग से प्रबंधित करना सीखें, जिसका मतलब है कि रोजाना प्लानिंग करना या नेट सर्फिंग करने का कोई मतलब नहीं है। याद रखें कि आप नेट पर समाचार व लेख पढ़ने से आप अपने आप को यह विश्वास दिलाने के लिए प्रेरित कर सकते हैं कि आप पढ़ रहे हैं। किन्तु वास्तविकता यह है कि आपने अभी तक इसके पहली पायदान पर भी कदम नहीं रखा है।यदि हम अध्ययन की बात करें तो किसी भी विषय के बारे में नोट्स की मदद से अच्छी तरह से पढ़ना और उनकी पुनरावृत्ति करना आवश्यक है। यदि आप किसी कार्य या व्यवसाय विषय में लंबे समय तक यात्रा करते हैं, तो उस समय पर विषयों पर समझ विकसित करने और उन्हें संशोधित करने का प्रयास करें। लेकिन आप ऐसा तभी करें, जब आप किसी वाहन / चलती गाड़ी में अपने आप को इस कार्य में सहज महसूस कर रहे हों।

हर पल महत्वपूर्ण है-

आईएएस बनने की इच्छा रखने वाले के लिए उपलब्ध संसाधनों में समय सबसे कीमती और दुर्लभ संसाधन होता है। कामकाजी पेशेवरों के लिए, जो दुनिया के सबसे प्रतिस्पर्धी प्रतियोगी परीक्षा में सफल होना चाहते हैं, यह कथन और अधिक सच हो जाता है। इसलिए फुल– टाइम जॉब करने वाले व्यक्ति के लिए उपलब्ध समय का अधिकतम उपयोग करना महत्वपूर्ण है। मानक काम के घंटे के तौर पर यदि शिफ्ट 8 घंटे का मानें तो आईएएस की परीक्षा की तैयारी के लिए आप 3-4 घंटे से अधिक का समय नहीं निकाल पाएंगे। इसलिए एक पूरे दिन में आपको जितना भी समय मिले उसका उपयोग करना महत्वपूर्ण है। सबसे अच्छा तरीका है कि अपने सभी छोटे ब्रेक्स का उपयोग करें और रोज पढ़े जाने वाली चीजें जैसे अखबारों और पत्रिकाओं को भोजनावकाश के दौरान कवर करें। आमतौर पर इन सामग्रियों में दैनिक घटनाओं और हलचल के साथ हल्के विषय होते हैं इसलिए इन्हें पढ़ने के लिए समर्पित अध्ययन समय की जरूरत नहीं होती। यदि आप दिन में पढ़ी गई चीजों पर पर्सनल जरनल या नोट्स बनाते हैं तो भी आपको मदद मिलेगी। दिन के आखिर में नोट्स पर सरसरी निगाह डालने से आपको सभी घटनाओं के बारे में जानकारी मिल जाएगी।

अपने ऑफिस के करीब (समीप,नजदीक) घर रखें-वास्तव में यह बहुत अच्छी सलाह नहीं है लेकिन निश्चित रूप से व्यावहारिक है क्योंकि इससे आपको आईएएस की तैयारी के लिए अधिक समय मिल जाएगा। काम करने के स्थान यानि ऑफिस के पास घर रखने से आपके ऑफिस आने– जाने में लगने वाला समय बचेगा जिसका उपयोग आप आईएएस परीक्षा के लिए पढ़ाई में कर सकेंगे। एक और फायदा यह होगा कि इससे आपको थकान भी कम होगी। यदि आप घर वापस आने के बाद थकान कम महसूस करेंगे तो आईएएस की पढ़ाई पर फोकस कर पाएंगे जिससे यूपीएससी सिविल सर्विस परीक्षा में आपको अच्छा करने में मदद मिलेगी।

स्थिर व सुव्यवस्थित दिनचर्या-

यह इस परीक्षा की तैयारी का एक अत्यंत महत्वपूर्ण भाग है। यदि आप अनुकूल परिणाम चाहते हैं तो आप अपने दिन को व्यवस्थित करें और समय सारिणी के भीतर ही आपको जो कुछ करना है उसे करें। ध्यान रहे कि एक आपको अपने लिये एक स्वस्थ जीवन शैली का निर्माण करना चाहिये, जो आपको आपकी आईएएस तैयारी के लिए अधिक से अधिक समय उपलब्ध करने में आपकी मदद करेगी। इसलिये दृढ़ संकल्प के साथ अपनी समय सारणी का निरीक्षण करें और अपनी दिनचर्या पर टिके रहें।यदि आप पिछले सफल उमीदवारों को देखें जो टॉपर्स रहे हैं और जिन्होंने अपनी पूर्णकालिक नौकरी के दौरान ही यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा में उच्च स्थान प्राप्त किया। इस परीक्षा में सफलता पाना बिल्कुल असंभव नहीं है। आखिरकार, आपके पास भविष्य की सुरक्षा के लिये एक नौकरी है और यही सुरक्षा आपको अपनी आईएएस बनने की आकांक्षाओं को प्राप्त करने के लिए आवश्यक मदद दे सकती है।
सेलेक्टेड स्टडी का विकल्प चुनें-हमने समय की सीमित उपलब्धता पर पहले ही काफी जोर दिया है और जब बात कामकाजी पेशेवरों के आईएएस की तैयारी की आती है तो कम समय में तैयारी करना वाकई बहुत मुश्किल हो जाता है। एक तरीका है जिससे आप इस खामी को खूबी में बदल सकते हैं– चुनींदा अध्ययन कर। यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा का सिलेबस बहुत जटिल है और पूरा समय लगाकर आईएएस की तैयारी में जुटे छात्रों को भी सिलेबस को पूरा कवर करने में मुश्किल होती है। इसलिए, चुनींदा अध्ययन करना आपके लिए बुद्धिमत्तापूर्ण होगा। चुनींदा अध्ययन का मतलब है, आईएएस के पूरे सिलेबस का विश्लेषण करना। इस तरह आप कठिनाई के स्तर के अनुसार विषयों की सूची तैयार कर सकते हैं और सिर्फ उन विषयों पर जो आईएएस की परीक्षा पास करने में मदद कर सकते हैं, पर फोकस कर सकते हैं। ऐसे कुछ विषय होगें जिनकी तैयारी में सबसे अधिक समय लगा कर भी आप मुश्किल से उसे समझ पाएंगें। ऐसे विषयों पर समय बर्बाद करने की बजाय, समझदारी इसी में होगी कि आप अपना कीमती समय उन विषयों की तैयारी में लगाएं जिनमें आप अच्छे हैं।

  • →नौकरी या व्‍यवसाय करने वाले वे अभ्‍यर्थी जो सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी करना चाहते हैं, वे सबसे पहले अपने कार्य के समय के अतिरिक्‍त जो भी समय है, उसे टाइम टेबल बनाकर व्‍यवस्थित करें, ताकि उनको पता रहे कि उनके पास पढ़ाई के लिए कितना समय है और उसके अनुरूप वे अपनी रणनीति बना सकें।
  • →ऐसे अभ्‍यर्थी पढ़ाई के साथ-साथ नोट्स अनिवार्य रूप से बनाए, ता‍कि पाठ्यक्रम को कम समय में दोहराने के लिए समेटा जा स‍के। यह प्रक्रिया परीक्षा के समय अत्‍यन्‍त लाभकारी होता है।
  • →कामकाजी अभ्‍यर्थी बहुत अधिक किताबों के बोझ से बचें। इनको दस किताब को दस बार पढ़ने से होगा।
  • →ये अपने पढ़ायी में ग्राफिक्‍स का अधिक से अधिक प्रयोग करें।
  • →ऐसे अभ्‍यर्थियों के मार्गदर्शन के लिए अब बहुत से संस्‍थान सुबह और शाम की कक्षाओं का आयोजन करती हैं। इसके अलावा छुट्टियों के दिन विशेष कक्षाओं का भी आयोजन किया जाता है।
MY NAME IS ADITYA KUMAR MISHRA I AM A UPSC ASPIRANT AND THOUGHT WRITER FOR MOTIVATION

Related Posts

UPSC CSE Result Live Update यूपीएससी सिविल सर्विस का फाइनल रिजल्ट जारी होने वाला है

संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) जल्द ही सिविल सेवा 2023 परीक्षा का फाइनल रिजल्ट जारी करने वाला है। जो इस परीक्षा में शामिल हुए थे वो आधिकारिक…

UPSC Prepration Tips: नौकरी के साथ कैसे करें यूपीएससी की तैयारी?

भारतीय वन सेवा (आईएफएस) अधिकारी और आईआईटी रूड़की से स्नातक हिमांशु त्यागी ने हाल ही में इस बारे में व्यावहारिक सुझाव साझा किए कि कैसे व्यक्ति खुद को “निर्मित…

3 बार UPSC में हुईं फेल, चौथी बार में रच दिया इतिहास मॉडलिंग छोड़ तस्कीन खान बनीं IAS

यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा (CSE) क्रैक करने के लिए एस्पिरेंट्स को कड़ी मेहनत करनी पड़ती है.  इस परीक्षा के लिए हर साल लाखों लोग तैयारी करते हैं…

परीक्षा देने के दोषी आईएएस अधिकारी IAS को तीन साल की सजा, जानिए क्या है पूरा मामला

दूसरे की जगह परीक्षा देने के दोषी करार दिए गए 2019 बैच के आईएएस अधिकारी नवीन तंवर को शुक्रवार को तीन साल कारावास की सजा सुनाई गई।…

UPSC की सिविल सर्विसेज परीक्षा क्लियर करने के ये हैं 5 मूलमंत्र, IAS से जानें तैयारी का सही तरीका

संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की सिविल सर्विसेज परीक्षा को देश की सबसे कठिन परीक्षाओं में एक माना जाता है। इस परीक्षा में हर वर्ष लाखों की…

PW IAS मेन्स 2024 टेस्ट 2 हिंदी PDF समाधान के साथ

अब आपने आईएएस अधिकारी बनने का मन बना लिया है और अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए पुस्तकों और अध्ययन सामग्री की तलाश कर रहे हैं।…

This Post Has 2 Comments

  1. THANKS BHAI AAP NE BAHUT HI HELPFUL SITE BANIYE H JISMEIN HUM STUDY KE SAATH SAATH MUSIC BHI SUN SKTE H …..
    DIL SE SUKRIYA DOST…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *