यूपीएससी टॉपर प्रदीप सिंह -खुद बताया- कैसे मिली सफलता

हरियाणा के सोनीपत के रहने वाले प्रदीप सिंह का वैसे तो सबसे बड़ा सपोर्ट सिस्टम उनके पिताजी हैं. उन्होंने बताया, तैयारी के दौरान पिताजी ने मुझे मेंटल सपोर्ट किया था. मैंने नौकरी छोड़कर परीक्षा की तैयारी की थी. जब भी आप किसी भी चीज की तैयारी करते  हैं तो कोई न कोई ऐसा होता है, जिनसे आप इंस्पायर्ड होते हैं. प्रदीप सिंह भी कुछ IAS ऑफिसर से इंस्पायर्ड हुए हैं. जिसमें IAS नवीन चंद्र, IAS अभिषेक सिंह, IAS अनुदीप दुरीशेट्टी  और किरण बेदी  का नाम शामिल है.

यूपीएससी (संघ लोक सेवा आयोग) टॉपर प्रदीप सिंह ने बड़ी चुनौतियों से जूझते हुए यह मुकाम हासिल किया है। प्रदीप सिंह ने इनकम टैक्स में इंस्पेक्टर बनने के बाद सुबह 9 बजे से शाम 6 बजे तक नौकरी की और इस बीच ही समय निकालकर यूपीएससी की तैयारी करते रहे। प्रदीप सिंह का मानना है कि पढ़ाई को कभी घंटों से नहीं तौलना चाहिए और हर दिन घंटे तय करने की जगह साप्ताहिक पाट्यक्रम तय करके पढ़ाई करनी चाहिए। क्योंकि हर दिन कोई बराबर घंटे पढ़ाई नहीं कर सकता है। प्रदीप सिंह ने पढ़ाई का सबसे बड़ा मूलमंत्र टाइम मैनेजमेंट बताया है। जब कोई टाइम मैनेजमेंट से पढ़ाई करता है तो वह तय पाठ्यक्रम को पूरा जरूर करता है।

यूपीएससी टॉपर प्रदीप सिंह ने बताया कि वह सोनीपत के शंभूदयाल मॉर्डन स्कूल में पढ़ाई करते थे तो 10वीं में उनके काफी अच्छे नंबर थे लेकिन 12वीं में वह स्कूल टॉपर रहे हैं। वह 12वीं में दिनभर या रातभर जागकर पढ़ाई नहीं करते थे, बल्कि उसी समय यह तय करते थे कि इस सप्ताह इतना पाठ्यक्रम पूरा करना है। उसके लिए वह किसी दिन ज्यादा घंटे भी पढ़ाई कर सकते हैं और किसी दिन कम घंटे भी पढ़ाई कर सकते हैं। पढ़ाई करते समय परिणाम पर ध्यान नहीं देना चाहिए, बल्कि अपना पूरा ध्यान पढ़ने पर रखना चाहिए। 

यूपीएससी टॉपर प्रदीप सिंह

अगर हम पढ़ते हुए ही परिणाम के बारे में सोचते रहेंगे तो टॉपर रहना दूर की बात है, शायद सफलता भी मुश्किल से मिल सकेगी। प्रदीप सिंह ने बताया कि जिस तरह से नौकरी करने के बाद आईएएस बनने का लक्ष्य बनाया तो एक बार सोचा कि नौकरी छोड़कर तैयारी की जाए। लेकिन परिवार में पहली बार किसी को सरकारी नौकरी मिली थी और आर्थिक स्थिति को देखते हुए नौकरी छोड़ने से परेशानी हो सकती थी। इसलिए सोचा कि नौकरी करते हुए टाइम मैनेजमेंट कर यूपीएससी की तैयारी हो सकती है। यह सोचकर ही तैयारी शुरू कर दी।

ऑफिस में सुबह 9 से शाम 6 बजे तक काम करना होता था। प्रदीप सिंह ने बताया कि सुबह ऑफिस जाते समय पढ़ता रहता था, लंच में जल्दी खाना खाकर भी पढ़ाई की। ऑफिस में काम जल्दी निपटाकर भी पढ़ाई की तो घर जाते समय रास्ते में भी पढ़ाई करता था। उसके बाद घर में समय मिलते ही पढ़ाई करता था। इस तरह से पहले से तय साप्ताहिक पाठ्यक्रम जरूर तय करना होता था। प्रदीप सिंह ने बताया कि किसी को पढ़ाई को घंटे से नहीं तौलना चाहिए और भले ही कम घंटे पढ़ाई की जाए लेकिन पूरी योजना के साथ फोकस कर पढ़ना चाहिए। यह केवल यूपीएससी की तैयारी के लिए नहीं होना चाहिए, बल्कि स्कूल, कॉलेज, प्रतियोगी परीक्षा व अन्य सभी के लिए इस तरह पढ़ाई की जाएगी तो शायद ही किसी को सफलता नहीं मिले।

MY NAME IS ADITYA KUMAR MISHRA I AM A UPSC ASPIRANT AND THOUGHT WRITER FOR MOTIVATION

Related Posts

UPSC CSE Result Live Update यूपीएससी सिविल सर्विस का फाइनल रिजल्ट जारी होने वाला है

संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) जल्द ही सिविल सेवा 2023 परीक्षा का फाइनल रिजल्ट जारी करने वाला है। जो इस परीक्षा में शामिल हुए थे वो आधिकारिक…

UPSC Prepration Tips: नौकरी के साथ कैसे करें यूपीएससी की तैयारी?

भारतीय वन सेवा (आईएफएस) अधिकारी और आईआईटी रूड़की से स्नातक हिमांशु त्यागी ने हाल ही में इस बारे में व्यावहारिक सुझाव साझा किए कि कैसे व्यक्ति खुद को “निर्मित…

3 बार UPSC में हुईं फेल, चौथी बार में रच दिया इतिहास मॉडलिंग छोड़ तस्कीन खान बनीं IAS

यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा (CSE) क्रैक करने के लिए एस्पिरेंट्स को कड़ी मेहनत करनी पड़ती है.  इस परीक्षा के लिए हर साल लाखों लोग तैयारी करते हैं…

परीक्षा देने के दोषी आईएएस अधिकारी IAS को तीन साल की सजा, जानिए क्या है पूरा मामला

दूसरे की जगह परीक्षा देने के दोषी करार दिए गए 2019 बैच के आईएएस अधिकारी नवीन तंवर को शुक्रवार को तीन साल कारावास की सजा सुनाई गई।…

UPSC की सिविल सर्विसेज परीक्षा क्लियर करने के ये हैं 5 मूलमंत्र, IAS से जानें तैयारी का सही तरीका

संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की सिविल सर्विसेज परीक्षा को देश की सबसे कठिन परीक्षाओं में एक माना जाता है। इस परीक्षा में हर वर्ष लाखों की…

PW IAS मेन्स 2024 टेस्ट 2 हिंदी PDF समाधान के साथ

अब आपने आईएएस अधिकारी बनने का मन बना लिया है और अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए पुस्तकों और अध्ययन सामग्री की तलाश कर रहे हैं।…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *